Varshi Tap Mahostav 2024

    वर्षीतप के आवश्यक नियम एवं सूचना:

    मैं श्री आदिनाथ भगवान की भक्ति करते हुये, अहोभावपूर्वक अप्रैल 2024 की वर्षीतप आराधना के लिए विधिपूर्वक प्रसाद ग्रहण करके २ अप्रैल से वर्षीतप हेतु उपवास तप का एकान्तर शुरू करने की भावना रखता/ रखती हूँ। देव-गुरू की कृपा से मेरा वर्षीतप निराबाध पूर्ण हो एवं मैं पारणोत्सव पर अक्षय तृतीया 2025 को आचार्य भगवंत श्री आनंद ऋषिजी म.सा. के जन्मभूमि पर आने की भावना रखता/रखती हूँ|

    • आवेदन पत्र स्वीकृति का निर्णय समिति का ही होगा।
    • आपके आवेदन पत्र स्वीकृत होने पर व्हाट्सएप या दूरभाष के द्वारा स्वीकृति प्रदान की जाएगी।
    • हर आराधक को नियमित रूप से तप दौरान जाप,आराधना एवं क्रिया करना अनिवार्य है